Barsi Mahadev Temple in Tikrol Saharanpur Uttar Pradesh

Barsi Mahadev Temple in Saharanpur Uttar Pradesh

Barsi Mahadev Temple Uttar Pradesh के Saharanpur ज़िले के Nanauta क़स्बा में Nanauta Gangoh रोड़ पर Tikrol गांव के पास बरसी गांव में अनोखा महादेव शिव का मंदिर हैं जिसका प्रवेश द्वार पश्चिम दिशा में है। 

यह महाभारत काल में कौरवों द्वारा बनाया गया था। 

Barsi Mahadev Temple in Saharanpur

बरसी महादेव मंदिर का इतिहास (Barsi Mahadev Temple History)

पौरोणिक कथा अनुसार महाभारत युद्ध के समय भगवान श्री कृष्ण एक बार इस स्थान पर रुके और उन्होंने इस स्थान को बृज जैसा बताया था। तभी से इस जगह को बरसी के नाम से जाना जाने लगा। 

Barsi Mahadev Temple

दुर्योधन को जब इस बात का पता चला तो उसने रातोरात इस स्थान पर भगवान शिव का मंदिर बनवा दिया। इसका मुख्य द्वार पूर्व दिशा में था जिसे बाद में भीम ने अपनी अमोघ शक्ति से नींव सहित पश्चिम की तरफ़ मोड़ दिया। 

यहाँ हर शिवरात्रि पर तीन दिन का मेला लगता है जिसमें पूरे देशभर से श्रद्धालु जलाभिषेक करने आते हैं। 

कावंड़ यात्रा के दौरान जलाभिषेक के लिए मुख्यतः तीन मंदिरों की मान्यता सबसे अधिक है जिसमें नीलकंठ महादेव उत्तरखण्ड में , पुरा महादेव मेरठ और बरसी महादेव मंदिर टिकरौल सहारनपुर में हैं।

Barsi Mahadev Temple in Tikrol Saharanpur Uttar Pradesh

बरसी में नहीं होता होलिका दहन 

बरसी गांव में कभी भी होलिका दहन नहीं करते हैं। यहां के निवासियों में ऐसी मान्यता है की होलिका दहन करने से धरती गर्म होगी और इससे भगवान शिव के पैर जलेंगे। इसीलिए बरसी गांव में होलिका दहन नहीं होता। गांव की बेटी भी शादी के बाद जब अपने गांव बरसी में होली मनाने पहली बार आती हैं तो वह पड़ोस के गांव में होलिका दहन की पूजा करती हैं। 

Pls Read: Pura Mahadev Mandir

नवविवाहित जोड़े लेते हैं शिव बाबा का आशीर्वाद

Barsi Mahadev Mandir

ऐसी मान्यता है कि यदि नवविवाहित जोड़ा यहां पर महाशिवरात्रि को आकर बाबा का आशीर्वाद लेते हैं तो उनकी शादीशुदा जिंदगी सुखमय रहती है। इसीलिए महाशिवरात्रि को बरसी महादेव मंदिर में नवविवाहित जोड़े शिव बाबा का आशीर्वाद लेने के लिए आते हैं।

Barsi Mahadev

इस मंदिर में प्रसाद के रूप में विशेषत बेर, कद्दू व गुड़ की भेली और जलाभिषेक के रूप में दूध, जल, व बेलपत्र चढ़ाए जाते हैं। देशभर से श्रद्धालु यहां मत्था टेककर मन्नतें मांगने आते हैं।

Pls Read: Tapkeshwar Mahadev Mandir, Dehradoon

कैसे पहुँचे बरसी महादेव मंदिर (How to Reach Barsi Mahadev Temple)

यह महादेव मंदिर दिल्ली सहारनपुर रोड़ पर नानौता चौक से गंगोह की तरफ करीब 5 किमी टिकरौल गांव के पास बरसी गांव में हैं।

कृपया आप भी अपने अनुभव और यात्रा बरसी महादेव मंदिर के बारे में नीचे comments box में बताइये।

2 thoughts on “Barsi Mahadev Temple in Tikrol Saharanpur Uttar Pradesh”

  1. Pingback: Tapkeshwar Mahadev Mandir Dehradun (Hindi)

  2. Pingback: Pura Mahadev Mandir | Baghpat | History | All Travel Story

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!